HomeCommon Health Issue

नपुंसकता(IMPOTENCY) के Symptom-लक्षण-cause-treatment-उपचार

Like Tweet Pin it Share Share Email

 

  • नपुंसकता(IMPOTENCY)

 आज के भाग- दौड़ भरी और प्रतिस्पर्धावाद वाली जिंदगी में इंसान के पास इतना भी समय नहीं है की वह कुछ पल परिवार और दोस्तों  के साथ बिताएं ,वो अपने करियर ,भविष्य (JOB)को लेकर इतने गंभीर होते हैं की पर्याप्त मात्रा में ना नींद ले पाते हैं ,ना ही उचित भोजन,व्यायाम और योग के लीये भी समय नहीं अर्थात   सभी लोग आर्थिक रूप से सक्षम और प्रभावशाली बनने की अभिलाषा में अपने शरीर का भी ख्याल नहीं रख पातेI जिसके कारण कई तरह के समस्याओं का सामना करना पड़ता हैI विशेषकर युवाओं में शारीरिक विकार अधिक  देखने को मिलती हैI आधुनिक युग में अभिभावकों द्वारा महत्वाकांक्षी सपनों को पाने के लिए शुरू से ही बेहतर शिक्षा का दबाव डाला जाता है उसके बाद जैसे ही बचपन से युवा की उम्र में लोग प्रवेश करते हैं उनमें स्वत: अपने कैरियर को लेकर और अभिभावकों के अधिक अपेक्षा के कारण चिंता ग्रस्त हो जाते हैं, जिसके  कारण अनेक प्रकार के मानसिक दबाव और बीमारियां उत्पन्न होती है जो शारीरिक और मानसिक रूप से शरीर को दुर्बल बना देती हैIइस प्रकार के जीवन शैली में आए बदलाव के कारण और कैरियर बनाने के चक्कर में लोग आजकल काफी देर से शादी कर रहे हैं इसके अलावा शुद्ध खानपान न होने से शारीरिक बदलाव एक बड़ी समस्या बनती जा रही हैI  जो कई तरह के रोको जन्म दे रहा है उन्हीं रोगों में से नपुंसकता हैI भारत में इन्हीं बल्कि पूरे विश्व में यौन संबंधी समस्याएं काफी तेजी से बढ़ रहे हैं जिसके कारण डिप्रेशन और पति पत्नी के मधुर पवन बर्बाद हो जा रहे हैं इसलिए हमें अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग और जागरूक रहना होगा अगर हम समयानुसार हर दिनचर्या की  कार्य करें इस प्रकार के गुप्त रोगों से छुटकारा पाया जा सकता हैI नपुसंकता हालाकी एक सामान्य समस्या है पर अधिकांश लोग इस बीमारी को लेकर खुलकर बात नहीं करते और ना ही बेहतर इलाज या उपचार करवाते हैं जबकि सबसे अधिक संवेदनशील हमें अपने गुप्तांगों के प्रति ही रहनी चाहिएI 5 वर्ष पहले किए गए एक सर्वे के अनुसार नपुसंकता अधिकतम  40 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों में अधिक देखने को मिलती है,परन्तु नेशनल हेल्थ सर्विस द्वारा हाल ही में किये गए सर्वे में युवाओं में नपुंसकता की बिमारी तेजी से फ़ैल रहा हैI

  • नपुंसकता क्या है?  

नपुंसकता(Impotence) एक ऐसी बिमारी है जिसमें कोई पुरुष अपने पार्टनर(महिला) के साथ सन्तुष्टपूर्वक अंतरंग(शारीरिक) सबंध नहीं बना पता हैI दूसरे अर्थ में कहा जाये तो ऐसी परिस्थितियां जिसमें इंसान सेक्स के प्रति शारीरिक और मानसिक रूप से उतना उत्साहित नहीं रहता वह यौन क्रिया का आनंद नहीं ले पाता हैI नपुंकता से ग्रसित पुरुष जब अपने लाइफ पार्टनर के साथ शारीरिक सबंध (सेक्स) बनाता  है तो उनके लिंग में पर्याप्त तनाव और कड़ापन की कमी पायी जाती है जिसके बाद सही तरीके से सहवास(sex) न कर पाते हैं I नपुंसकता में अलग-अलग लोगों को अलग -अलग तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता हैIकुछ लोगों की लिंग में इतनी शिथिलता आ जाती है की उनको संभोग(sex) के प्रति किसी प्रकार के उत्साह नहीं रहती वो पूरी तरह इसके प्रति उदासीन हो जाते हैं उनके लिंग में किसी प्रकार की प्रतिक्रिया देखने को नहीं मिलतीI इस रोग से ग्रसित व्यक्ति महिला के संपर्क में आने से झिझिकते हैंIनपुंसकता को नामर्दी (Eractile dysfunction) भी कहा जाता हैI सबसे अधिक लोग  डिप्रेशन का शिकार नपुंसकता की वजह से होते हैंI कुछ लोगों के अंदर इतनी कमजोरी आ जाती है उनके लिंग में किसी तरह के तनाव महसूस नहीं होता और कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके लिंग के अंदर तनाव रहता है पर लम्बे समय तक संतुलित नहीं रख पातेI सेक्स मात्र एक क्रिया बल्कि हम कह सकते हैं ली हमारे ऊर्जा और शक्ति का स्टोर हाउस है, नपुंसकता से ग्रसित कुछ पुरुषों की लिंग में उत्तेजना स्पर्श से भी नहीं होती अर्थात वैसे लोगों के लिंग में खून का संचरण उतनी नहीं होती और उत्तेजना के लिए जरुरी हारमोन भी नष्ट हो जाता हैI विशेष कर पुरुषों में 55 वर्ष के बाद और महिलाओं में 45 साल के बाद हार्मोन की कमी देखि जाती है जिसे धीरे -धीरे उनके सम्भोग की चाहत ख़त्म होने लगती है जिसके कारण मानसिक दबाव महसूस करते हैं  उनकी आत्मविश्वास में कमी देखने को मिलती है और धीरे -धीरे नपुंसकता के गिरफ्त में आ जाते हैंI 

  •  नपुंसकता के मुख्य कारण(Cause of Impotency)-

 नपुंसकता के बारे में डॉक्टरों को कहना है की अधिकतर लोगों को शारीरिक रूप से कोई समस्या नहीं होती  बल्कि अपने मन में मानसिक धारणा बना लेते हैं एक या दो बार संतुष्टपूर्वक संभोग नहीं कर पाते हैं तो स्वत: दबाव महसूस करते हैं मैं नामर्द हो गया हूँ जबकि यह एक दिमागी वहम हैI  परन्तु कुछ लोग  सही मायनों में नपुंसकता से ग्रसित होते हैं

  •  वैसे लोग  जो अपने प्रोफेशनल और कैरियर को लेकर कहीं ना कहीं मानसिक दबाव में रहने के कारण  या निजी जिंदगी में किसी कारण से मानसिक रूप से मजबूत नहीं है उनमें नपुसंकता के लक्षण आ जाते हैंI
  • हार्मोनल असंतुलन के कारण अर्थात  वैसे पुरुष जिनके अंदर टेस्टोस्टेरोन (Male Sex  Harmone) लेवल में कमीI 
  • अगर आप अधिक मोटा है तो  नपुंसकता का सामना करना पड़ सकता हैI 
  • वैसे लोग जो पहले से ही किसी अन्य बीमारीयों  से ग्रसित हों जैसे कि डायबिटीज ,दिल संबंधी, पेट संबंधी या  शरीर के आंतरिक बीमारियों से ग्रसित हो तो इसके कारण भी नपुसंकता का सामना करना पड़ सकता हैI 
  •  अधिक दवाइयों के सेवन करने और शारीरिक क्रियाकलाप जैसे कि  कोई खेल ना खेलना ,व्यायाम, योगा ना करने से भी शारीरिक समस्याएं उत्पन्न होती है जिसके कारण नपुंसकता का सामना करना पड़ सकता हैI  
  •  मसालेदार ,चाईनीज फ़ूड , जंक फ़ूड और  अधिक रिफाइनयुक्त भोजन करने से भी नपुंसक हो सकते हैंI 
  • अगर खास कर युवा जो किसी  प्रकार के नशाखोरी करते हैं शराब, सिगरेट ,गुटका  और धूम्रपान करते हैं तो यह आदत नपुसंकता बढ़ाने में मुख्य कारणों में से एक हैI 
  • अधिक हस्तमैथुन(Masturbation) के कारण शुक्राणुओं में कमी आ जाती है जिसके कारण  नपुंसकता होता हैI
  • हाइपरटेंशन के कारण ,थायरॉइड से ग्रसित व्यक्ति को भी नपुंसकता हो सकती हैI 
  • नपुंसकता के  प्रमुख लक्षण-

हमारे समाज में मुख्यत:  देखा जाता है कि लोग गुप्त यौन संबंधी बीमारियों के बारे में किसी से जिक्र करने से भी कतराते हैं उन्हें लगता है उनके   पुरुषार्थ को लोग मजाक बनाएंगे और नैतिक रूप से भी सेक्स जैसी संदर्भ के बारे में सार्वजनिक रूप से बात करना भी उचित नहीं समझा जाताI बहुत सारे लोगों को अगर लक्षण (पहचान) मालुम हो तो कीसी तरह के शारीरिक परिवर्तन  होने पर सेक्स से जुडी विकार को जान सकते हैं और नियमित रूप से इलाज करवा कर हम नपुंसक होने से बच सकते हैंI

  • नपुंसकता से ग्रसित व्यक्ति हमेशा चिचिड़ापन ,मानसिक तनाव और आत्मविश्वास की कमी रहती हैI 
  • लिंग में तनाव की कमी या बिलकुल भी तनाव ना होनाI 
  • सम्भोग के समय लिंग में तनाव खत्म हो जाना जिसके कारण सही तरीके से यौन  क्रियाएँ न कर पानाI 
  • नपुंसकता के दौरान पुरुष के लिंग में कठोरता या तो आती है नहीं तो बहुत जल्द शांत हो जाती है अर्थात कठोरता आने पर भी लिंग खड़े होने पर भी अति शीघ्र पतन हो जाना नपुंसकता के लक्षण हैI 
  • संभोग करने से पहले या इमरान घबराहट होनाI 
  •  नपुंसक व्यक्ति के अंडकोष छोटे हो सकते हैंI
  • किसी भी आपत्तिजनक वीडियो या तस्वीर को देखते हीं लिंग से वीर्य(धात) निकलना नपुंसकता का लक्षण हैI 
  • नपुंसक के रोगियों को नियमित रूप से पेट में कब्ज आदि पेट में अनेक प्रकार  की समस्याएं देखने को मिलती हैI 
  • सिर  में चक्कर और  शारीरिक रूप से कमजोरी और थकावट महसूस करनाI 
  • एकाग्रता की कमी विवाहित पुरुषों में विशेष कर  स्वप्नदोष आते हैं तो नपुंसकता के लक्षण हैंI 
  • वैसे व्यक्ति जिनको सेक्स की इच्छा होती है परन्तु उनके लिंग में किसी भी तरीके के सक्रियता या तनाव देखने को  नहीं मिलता है तो ये नपुंसकता के लक्षण हैI 
  • नपुंसकता से ग्रसित व्यक्ति की हड्डियां कमजोर होने लगती है उनके कार्य क्षमता नियमित रूप से कम होता हैI 
  • पुरुषों के छाती(CHEST) में उभार आना और बिल्कुल महिलाओं के छाती(BREAST) में तब्दील हो जानाI 
  • नपुंसकता होने वाले प्रमुख जांच –

नपुंसकता में मुख्य रूप से खून की जाँच , शुक्राणु की जाँच ,Testostrene level डाइबिटीज की जाँच,पेशाब की जांच,मानसिक स्वास्थ्य परीक्षा  आदि प्रमुख जांचे की जाती हैIनपुंसकता के उपचार प्रक्रिये नपुंसकता के लक्षण पर निर्भर करता है जिसके उपरान्त मनोचिकित्सक योग और तनावमुक्त होने में मदद करते है और शारीरिक नपुंसकता में रोगी को दवाइयां और पंप जैसे सहायक उपकरण से भी इलाज किया जाता हैI काउंसलिंग (इमोशनल कारणों को दूर करके ,तनाव-कम करके ) इरेक्टाइल डिस्फ़न्क्शन के लिए विशेष दवाएं देकर ,सर्जरी से कोई शारीरिक परेशानियों दिक्कत दूर करके किया जाता हैI

  •  नपुंसकता के घरेलु उपचार –

नपुंसकता दो तरह की होती है शारीरिक और मानसिक परन्तु अधिकांशत: लोग मानसिक से नपुंसकता से   अधिक पीड़ित होते हैं और अधिक सोचने लगते हैं जिसके बाद अपने आप को हमेशा नामर्द समझने की भूल करते हैंI

  • नपुंसकता हमारी सोच से जुडी हुई दिमागी बीमारी हैI जिसमे भय ,चिंता,उदासी से इंसान घिरा रहता है  इसलिए जरूरी है की वैसे काम करें जो पसंदीदा हो और आपको तनावरहित रखेI
  • हमेशा परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताएं और अपने आप को सकरात्मक धारणा में रखकर किसी अच्छे सेक्सोलॉजिस्ट से परामर्श लें अपने समस्याओं को लेकर गंभीर होने के बजाए अपने लाइफ पार्टनर के साथ समस्या को साझा करेंI
  • शराब ,ध्रूमपान ना करें  अधिक बाजार के खाद्य पदार्थों का सेवन न करें किसी भी तरह के पेय पदार्थ ,सॉफ्ट ड्रिंक आदि कम पियें क्यूंकि ये रसायनिकयुक्त होते हैं जिनमे से निकली रसायन पुरुष के हार्मोन्स को कम करते हैं जिसके कारण नपुंसकता उतपन्न होती हैI
  • योग और व्यायाम नियमित रूप से करेंIहमेशा भरपूर नींद लेंI
  • विशेष कर अविवाहित नवयुवक वैसी चीजें जैसे आपत्तिजनक और (Porn) अश्लील वीडियो से दूर रहें  ,इंटरनेट पर अधिक समय न बिताएंIजिससे आपको हस्तमैथुन(Masturbation)करना पड़ेIक्यूंकि अधिक हस्तमैथुन करना नामर्दी के मुख्य कारणों में से एक हैI
  • हमेशा अपने आहार में लहसून, ड्राई फ्रूट्स ,शहद और हरी सब्जियों और ताजे फल को शामिल करेंI
  •  अपने आप पर कभी संदेह ना करें ,डॉक्टर द्वारा बताई गयी दवाएं  को नियमित रूप से लेंI
  • किसी विज्ञापन के आधार पर बिना डॉक्टर के परामर्श लिए खुद से किसी भी तरह की दवाइयां का सेवन ना करेंI

नोट-  ऊपरोक्त  लिखी हुई तथ्य और बातें किसी  भी रूप से रोग के इलाज की पुष्टि नहीं करती यह  सिर्फ अपने पाठकों को जागरूक कर स्वस्थ और खुशहाल रखने के मकसद से  लिखा गया है I नपुंसकता एक ऐसी बीमारी है जिसमें व्यक्ति की दिमागी संतुलन अनियंत्रित  हो सकती है या फिर पूरी तरह से उनकी वैवाहिक और ,निजी जिन्दगी में उथल -पुथल हो सकता है 

इसलिए उपरोक्त लिखी गयी लक्षण दिखाई देने पर  तुरंत विशेषज्ञ सेक्सोलॉजिस्ट के पास जाकर सलाह  अवश्य लेंI