HomeCommon Health Issue

गंजापन ALOPECIA/BALDNESS Hair fall problem के cause-treatment-उपचार

Like Tweet Pin it Share Share Email

 

  • गंजापन(ALOPECIA/BALDNESS)

सेहत हमारी जीवन का खुशियों का चाभी है, अगर हम स्वस्थ रहते हैं तो हमारे जीवन खुशहाल और नन्द से भरपूर रहता हैI परंतु जब हम अस्वस्थ होते हैं तो शारीरिक विकार के साथ  मानसिक रूप से भी काफी दबाव में होते हैंI हम अपने दैनिक गतिविधियों में इस कदर उलझे हुए हैं कि हमें अपने शरीर के प्रति अनुकूल /प्रतिकूल  वातावरण परिस्थितयां,भोजन आदि पर जरा भी ध्यान नहीं देतेI हम आरामदायक और ऐश्वर्य जीवन चाहते हैं परन्तु आराम के कुछ क्रियाकलाप के वजह से शरीर के सक्रियता रुक जाता है ठीक उसी प्रकार हम स्वादिष्ट और समय बचत के लिए बाहर के व्यंजनों पर ज्यादा जोर देते हैं कई तरह के व्यंजनों का लुफ्त केवल जीभ ईमानदारीपूर्वक उठा पाता है अन्य अंग तो बजारु भोजन के कारण विकारों से घिरने लगते हैं जिसका असर थोड़े ही दिनों में अनेक प्रकर के रोगों के रूप में देखने को मिलते हैं अक्सर बाजार के बिकने वाली अधिक व्यंजन सस्ते और गंदे खाद्य पदार्थों से मिश्रित होते हैं जो कि दूषित भोजन की श्रेणी में आ जाता हैI जाहिर सी बात है दूषित भोजन करने से सबसे अधिक रोग और अनेक प्रकार के शारीरिक समस्याएं उतपन्न होते हैंI गंजापन  उन्हीं में से एक बीमारी है जो मुख्य रूप से हमारे गलत खान -पान के कारण होता है भारत में एक सर्वे के मुताबिक़ काफी कम उम्र में ही बालों का झड़ना शुरू हो गया है और तेजी से लोग गंजेपन का शिकार हो रहे हैंIऐसा नहीं की केवल खान -पान ही इसका मुख्य कारक हैं इसके साथ-साथ इसके और भी अनेक कारक हैंI गंजापन के रोगियों में देखा गया है की उनमें आत्मग्लानी स्वत: उतपन्न हो जाती है ,उनमें हीनता के भाव के साथ-साथ आत्मविशास की कमी आ जाती है जिसके कारण उनके अपने कार्यों में उतनी रुचि नहीं लग पाती और वह धीरे-धीरे डिप्रेशन में आ जाते हैंIउनका बौद्धिक और शारीरिक विकास भी रुक जाता हैI इसलिए गंजापन को कह सकते हैं की यह न सिर्फ लोगों के चुनौतीपूर्ण है बल्कि एक गंभीर बिमारियों की तरह चिक्तिसकीय परामर्श के अलावा इसमें छोटी -छोटी सावधानियां काफी अहमियत रखती हैI इससे हमें अभी मालूम चलता है की पुरुष या महिला दोनों के बालों का उनके व्यक्तित्व को निखारने में बड़ा योगदान रहता है अगर सिर पर भरपूर बाल हो तो व्यक्ति हर कठिन परिस्थितियो में भी आत्मविश्वास से लबरेज होकर उस काम के प्रति ज्यादा रहता है पुरुषों के लिए तो श्रृंगार की तरह है या यूं कहें की इंसानो  के चेहरे का सौंदर्य में उनके बालों (Hairs)का अहम योगदान हैI बाल हमारे त्वचा का अंग है जो हमें सर्दी गर्मी तथा अन्य प्रकार के दुर्घटना से न सिर्फ रक्षा करता है बल्कि सुंदर और आकर्षक दिखाने में भी इनकी अहम भूमिका होती हैइसलिए हमें शुरुआत से ही अपने शरीर के प्रति सचेत रहनी चाहिए और हमेशा कोशिश करना चाहिए कि हमें स्वस्थ खानपान को बढ़ावा देना चाहिए हमेशा शारीरिक सक्रियता को बढ़ावा देना चाहिए ताकि गंजापन और इसके जैसे अन्य रोगों से बचे रहेंI

  • गंजापन क्या है?(What is baldness/hair loss)

हमारे बाल(hair) मूल रूप से कैरोटीन नामक प्रोटीन के बने होते हैंI सामन्यत: हमारे बचपन से लेकर किशोरावस्था तक हमारे सिर पर घने बाल हमेशा रहता है और जब हम बुजुर्गावस्था में  जाते हैं तो धीरे- धीरे बालों का पतन शुरू हो जाता हैI परन्तु किसी कारणवश समय से पहले जब हमारे बाल झड़ने लगते हैं तो गंजेपन की समस्या शुरू हो जाता हैI गंजापन अलग-अलग प्रकार के होते हैं ,कुछ पुरुषों में इसके लक्षण धीरे -धीरे दिखाई देने लगती है अर्थात उनके बाल काफी कम मात्रा में निरंतर टूटते और  झड़ते हैं तो कहीं किसी में एक खास ढंग से खोपड़ी के किसी एक स्थान से झड़कर कर सिर को रिक्त कर देता हैI तेजी से शरीर के किसी भी अंग से जब बाल गिरने लगते हैं तो उसे Alopecia कहा जाता हैI सबसे अधिक गंजेपन का जिम्मेदार Alopecia ही हैIवैसी परिस्थतियाँ जिनमें एक किसी घुमावदार आकृति में होकर बाल झड़ने लगते हैं तो उसे ALOPECIA AREATA कहते हैंI  इसकी समस्या किसी भी उम्र में देखि जाती हैI यह गंजापन की सबसे गंभीर बिमारी है इसमें त्वचा से बाल संपूर्ण झड़ने लगते हैं और पूर्ण रूप से गंजा कर देता है और कहीं कहीं धब्बों का निशान बना देता हैIउस समय होता है जब आपके सर के बाल ना के बराबर रह जाते हैं जब पूरी तरह से अगर बाल झड़ जाए तो उसे एलोपेसिया कहते हैंI 

  • गंजापन के प्रकार(Types of Baldness)

लक्षणों के आधार पर अलग-अलग वर्गों में बांटा गया हैI

(1)एंड्रोजेनिक एलोपीसिया-ज्यादातर लोगों में एंड्रोजेनिक एलोपिसा का  लक्षण देखने को मिलते हैं यह महिला और पुरुष दोनों में होता है परन्तु पुरुष इससे अधिक ग्रसित होते हैंI इसलिए इसे  पुरुषों का गंजापन भी कहा जाता हैI शुरुआत में इसके लक्षण कनपटी और सिर के ऊपरी हिस्से में दिखाई देता हैI वैसे तो इसके लक्षण 40 वर्ष के ऊपर के व्यक्तियों में अधिक देखने को मिलती हैI इस किस्म के गंजापन मुख्यत: टेस्टोस्टेरॉन नामक हारमोन में असंतुलन के कारण होता हैI 

(2)ट्रैक्शन एलोपीसिया-  इस प्रकार के गंजापन  बाल के खिंचाव के कारण होता है अगर हम हेयर स्टाइल में  निरंतर परिवर्तन करते हैं तो बाल आधे- आधे पर से टूटने लगते हैंI 

(3)एलोपीसिया एरिटा- इसमें शरीर के किसी भी अंग से  बाल झड़ने लगता हैI परन्तु इसका प्रभाव मुख्य रूप से सिर व  खोपड़ी के त्वचा में अधिक देखने को मिलती हैI इसमें गोलाकर (सिक्कानुमा) आकृति के  बनावट बन जाता है और उस आकृति के अंदर का बाल पूरी तरीके से झड़ जाते हैंIएलोपीसिया एरिटा में  त्वचा पूरी तरीके से चिकनी हो जाती है Iयह किसी भी उम्र में हो सकता है या पुरुष और महिलाओं दोनों में होता हैI 

  • गंजापन के मुख्य लक्षण-(Symptomps of baldness)

ऐसे बहुत ही कम ही देखने को मिलता है जिसमें गंजापन या बाल अचानक तेजी से झड़ जाता हैI इसके कुछ संकेत और लक्षण होते हैं

  • शरीर के ख़ास कर सिर के ऊपर  शैम्पू करते समय या रगड़ते समय समय टूट-टूट कर बाल गिरने लगता हैI 
  • कभी -कभी दाग और धब्बे होकर बाल झड़ते हैंI 
  • लम्बे समय के बाद  बालों का आनाI
  • बालों का अत्यधिक पतला होनाI  
  • गंजेपन के गोल और धब्बेदार निशानI  
  •  गंजापन के  कारण (causes of Bladness)-

गंजापन के मुख्य कारण बदलते जीवनशैली और हमारी खान-पान में परिवर्तन होते हैंI  

  •  किसी भी प्रकार  के over thinking या मानसिक तनाव के कारणI 
  • टेस्टोस्टेरॉन नामक हारमोन सबंधी बदलाव के कारणI 
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में हुए हार्मोनल असंतुलन के कारणI
  • अनुवांशिकी के कारण  
  • प्रोटीन की कमी के कारण 
  • बढ़ती उम्र भी गंजेपन के लिए जिम्मेदार हैI 
  • Unhealthy food अर्थात बाजारों के रेडीमेड किसी तरीके के खाद्य पदार्थ मसालेयुक्त भोज्य पदार्थ , जंक फ़ूड ,फ़ास्ट फ़ूड के सेवन करने से  क्योंकि उनमें पोषक तत्व की कमी होती है 
  •  आधुनिक जीवनशैली में युवाओं का नए -नए हेयर स्टाइल  के लिए हेयर केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से क्यूंकि इसमें  प्रयुक्त रसायनिक पदार्थ हमारे बालों के लिए काफी नुकसानदायक हैI 
  • हार्मोनल असंतुलन के कारण 
  • शराब और ध्रूमपान के कारण सेI 
  • अगर हम पहले से ही किसी तरह के रोग से ग्रसित है जैसे थायरॉइड,एड्स,अस्थमा आदि  जैसी बीमारियों से ग्रसित हैं तो ये भी गंजापन का कारण हैI 
  • गंजापन के घरेलु उपाय –
  • बाहरी भोजन ना करेंI 
  • हमेशा योग और व्यायाम करेंI 
  • ध्रूमपान और शराब सेवन ना करेंI 
  • आवंला और जैतून तेल का प्रयोग करेंI 
  • हमेशा पोषकयुक्त भोजन लें जैसे की हरी सब्जियां ,हरे फल,मौसमी फल अत्याधिक मात्रा में लें क्यूंकि जिंक और मैग्नीशियम जैसे लवण भी उनसे प्राप्त होते हैंI 
  • देर रात ना सोएं ,भरपूर नींद लेंI 
  • किसी भी प्रकार के over thinking या टेंशन ना लेंI 

  नोट -इस लेख में उपरोक्त लिखी गई बातें अर्थात चिक्तिसकीय आलेख लोगों की  स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ाने बीमारी के बारे में अवगत कराने के लिए हैI  जो इलाज की पुष्टि नहीं करता हैI इसलिए स्वयं इलाज न करें उपरोक्त लिखी गए लक्षण होने पर  चिकित्सक से संपर्क करें और नियमित रूप से इलाज करवाएंI